2019

रतलाम। जिले में राज्य शासन के निर्देश अनुसार माफिया के विरुद्ध अभियान के अंतर्गत की जा रही कार्रवाई की समीक्षा करते हुए कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान तथा पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी द्वारा संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश बैठक में दिए गए। शनिवार को आयोजित बैठक में अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुनील पाटीदार, एसडीएम सुश्री लक्ष्मी गामड़, सीएसपी श्री हेमंत चौहान, निगमायुक्त श्री एस.के. सिंह, कार्यपालन यंत्री नगर निगम श्री सुरेश व्यास, तहसीलदार रतलाम ग्रामीण श्री प्रेमशंकर पटेल, नायब तहसीलदार रतलाम श्री मुकेश सोनी, श्री गर्ग आदि उपस्थित थे।
     बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए कि नगर निगम पुलिस तथा राजस्व का अमला माफिया के विरुद्ध अभियान में लगातार कार्रवाई करें। शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करने वालों को चिन्हित करें, उनको नोटिस जारी करें। कलेक्टर ने स्पष्ट कहा कि जो भी संदिग्ध मामले हैं उनमें संबंधित व्यक्ति को नोटिस जारी करके उससे निर्माण की अनुमति के दस्तावेज प्राप्त किए जाएं। प्रकरण की विवेचना के पश्चात अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाए।     

Ratlam News-माफिया के विरुद्ध अभियान में कार्रवाई के लिए कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए निर्देश

माफिया के विरुद्ध अभियान में कार्रवाई के लिए कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए निर्देश
और पड़े
शेयर

रतलाम। जिले के पिपलोदा विकासखंड के  बड़ायला माताजी ग्राम में घुस आए तेंदुए को रेस्क्यू ऑपरेशन द्वारा पकड़ा जाकर मंदसौर जिले की गांधीसागर सेंचुरी में भेज दिया गया है। शुक्रवार की सुबह 7:00 बजे गांव में तेंदुए की सूचना प्राप्त हुई थी। सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम को कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा सक्रिय किया गया। साथ ही कलेक्टर द्वारा उज्जैन मुख्य वन संरक्षक से बात कर विशेष रेस्क्यू दल को भेजने का आग्रह किया गया। दोपहर 2:30 बजे उज्जैन से विशेष दल गांव में आ गया था। कलेक्टर तथा पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी भी मौके पर पहुंच गए थे। साथ ही जावरा एसडीएम श्री राहुल धोटे एवं डीएफओ सुश्री वासु कनौजिया भी मौजूद थे।
     दोपहर 3:45 बजे वन विभाग की रेस्क्यू टीम द्वारा सफलतापूर्वक तेंदुए को पकड़कर गांधी सागर सेंचुरी के लिए रवाना कर दिया गया। इस दौरान ग्रामीणों ने भी सूझबूझ का परिचय दिया जिसकी कलेक्टर व एसपी ने सराहना की। तेंदुए के हमले में घायल दो ग्रामीण चिकित्सालय में भर्ती किए गए हैं, जिनकी हालत सामान्य है।

Ratlam News- ratlam samachar-Rescue operation in Badayla Mataji ratlam caught Leopard and sent to Gandhisagar- रतलाम न्यूज़, रतलाम समाचार, रतलाम खबर- बड़ायला माताजी में रेस्क्यू ऑपरेशन द्वारा तेंदुए को पकड़कर गांधीसागर रतलाम भेजा





रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। जिला प्रशासन द्वारा संस्कारित बच्चे एवं सशक्त समाज के उद्देश्य से आरंभ किए गए प्रोजेक्ट पहल के तहत मंगलवार को रतलाम के साई इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों के पेरेंट्स, टीचर एवं प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक आयोजित हुई। कलेक्टर रुचिका चौहान एवं पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी उपस्थित थे।
      बैठक में लगभग 300 पेरेंट्स उपस्थित थे। कलेक्टर तथा पुलिस अधीक्षक ने बच्चों के नैतिक एवं मानसिक विकास, जीवन मूल्य, घर-परिवार तथा स्कूल में बच्चों के लिए बरती जाने वाली आवश्यक सावधानियों, शिक्षकों तथा माता-पिता का बच्चों के प्रति दायित्व आदि घटकों पर अपने उद्बोधन में प्रकाश डाला। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्री के.सी. शर्मा तथा विद्यालय प्राचार्य डॉ. श्वेता विंचुरकर भी उपस्थित थे।

Ratlam-News-प्रोजेक्ट पहल के तहत साईं इंटरनेशनल स्कूल में बैठक आयोजित

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस एवं प्रशासन  24 घंटे अलर्ट पर है। छोटी से छोटी घटना को लेकर भी अत्यंत संवेदनशीलता बरती जाएगी। मंगलवार देर शाम कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में एक वृहद बैठक आयोजित हुई। जहां राज्य शासन के निर्देश अनुसार कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान तथा पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी ने मौजूद अधिकारियों को आने वाले दिनों में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए बिंदुवार निर्देशित किया।
     बैठक में जिले के सभी एसडीएम,  तहसीलदार,  थाना प्रभारी  से लेकर  सभी उन विभागों के अधिकारी भी  मौजूद थे,  जो  सूचना तंत्र में  अहम भूमिका  निभा सकते हैं। कलेक्टर व एसपी ने मैदानी स्तर पर सूचना तंत्र मजबूत करने के लिए आवश्यक हिदायत अधिकारियों को दी। सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील स्थानों पर विशेष चौकसी रखने के निर्देश दिए। किसी भी छोटी से छोटी घटना पर तत्काल एक्शन लेने, सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वाले तत्वों, कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने वाले व्यक्तियों पर प्रभावी रूप से पूर्व प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करने के निर्देश बैठक में दिए गए। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने पुलिस और राजस्व अधिकारियों को प्रतिदिन की रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। इस संबंध में रिपोर्ट प्राप्ति के लिए बैठक में मौजूद सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप केरकेट्टा को ताकीद की। 
     सोशल मीडिया पर भी पैनी निगाह रखने के निर्देश सभी राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों को दिए गए। उन्हें संयुक्त पेट्रोलिंग के लिए कहा गया। अधिकारियों को बॉन्ड ओवर की कार्रवाई करने के साथ ही ज्वलनशील एवं विस्फोटक पदार्थों के संग्रहण। एलपीजी व केरोसिन के अवैध उपयोग पर सख्त निगरानी रखने के निर्देश दिए गए। प्रत्येक पंचायत में फर्स्ट एड बॉक्स रखने के लिए भी जनपदों को निर्देशित किया गया। सभी जनपदों के सीईओ बैठक में मौजूद थे। बैठक में आदिवासी विकास विभाग, नगर निगम, सहकारिता, स्वास्थ्य तथा अन्य विभागीय अधिकारी भी उपस्थित रहे।

ratlam news-कलेक्टर एसपी द्वारा वृहद बैठक आयोजित एसडीएम, तहसीलदार, थाना प्रभारी रहे उपस्थित

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। शहर के मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में अस्थाई पुलिस सहायता केंद्र प्रारंभ किया गया है। यहां की आवश्यकता को देखते हुए इस पुलिस सहायता केंद्र का आरंभ सोमवार शाम किया गया। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान तथा पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी की उपस्थिति में डिप्टी कलेक्टर सुश्री शिराली जैन तथा सिविल सर्जन डा. आनंद चंदेलकर ने फीता काटकर सहायता केंद्र प्रारंभ किया, यहां 24 घंटे पुलिस की तैनाती रहेगी। केंद्र पर आवश्यक हेल्पलाइन तथा नंबर उपलब्ध रहेंगे।
कलेक्टर ने निरीक्षण किया
कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने मातृ एवं शिशु चिकित्सालय परिसर में भ्रमण कर विस्तृत निरीक्षण किया। उन्होंने बच्चों की गहन चिकित्सा इकाई तथा वार्ड देखें। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने सिविल सर्जन डॉ. चंदेलकर को निर्देशित किया कि चिकित्सालय में प्रत्येक बच्चे के लिए सिंगल बेड की व्यवस्था हो, मशीनें प्रत्येक समय चालू अवस्था में उपलब्ध रहें। कलेक्टर ने प्री-बोर्न वार्ड में और अधिक बेड की व्यवस्था के निर्देश सिविल सर्जन को दिए। साथ ही 24 घंटे डॉक्टर्स की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा। बताया गया कि चिकित्सालय में गहन प्रसूता केयर यूनिट भी शीघ्र आरंभ की जाने वाली है।

Ratlam News-मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में पुलिस सहायता केंद्र आरंभ

Ratlam News-मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में पुलिस सहायता केंद्र आरंभ

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान के निर्देश पर जिले के अतिवृष्टि प्रभावित ग्रामीणों की मदद के लिए अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा तत्काल कार्रवाई की जा रही है। जावरा अनुविभाग के 8 गांवों में ग्रामीणों के घरों की मरम्मत के लिए एक करोड़ 42 लाख रूपए मंजूर कर दिए गए हैं। एसडीएम जावरा श्री एम.एल. आर्य ने बताया कि पिपलिया जोधा, ताराखेड़ी, बोरिया, रणायरा गुर्जर, मेहंदी, धत्तरावदा, रोला तथा किलगारी के 180 व्यक्तियों के घरो की दुरुस्ती हेतु 1 करोड़ 42 लाख रुपए की स्वीकृति राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत कलेक्टर श्रीमती  रुचिका चौहान द्वारा जारी की गई है।
     जिले में अतिवृष्टि से प्रभावित जावरा अनुविभाग के गांवों में  सोमवार को पुनः कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान तथा पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी पहुंचे प्रभावित ग्रामीणों से चर्चा की और ग्रामीणों से कहा कि प्रशासन प्रत्येक जरूरतमंद की मदद करेगा। कलेक्टर तथा एसपी ने ढोढर, पिपलिया जोधा, सरसोंदा, पीपलोदी तथा राणायरा गुर्जर पहुंचकर अतिवृष्टि से हुए नुकसान का आकलन किया। साथ आए शासकीय अमले को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर ने क्षतिग्रस्त मकानों की मरम्मत तत्काल शुरू करने तथा फसलों के नुकसान का आकलन करने के लिए तेजी से कार्य करने की ताकीद की। कलेक्टर श्रीमती चौहान ने ग्राम पिपलौदी में ग्रामीणों के लिए पेयजल व्यवस्था हेतु पानी के टैंकर की व्यवस्था के निर्देश एसडीएम को दिए।
फसल क्षति होने पर किसान बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर पर कॉल कर सकते हैं
अतिवृष्टि से फसल खराब होने पर जिले के किसान बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर 180030024088 पर कॉल कर सकते हैं इसके अलावा 7650893705 पर भी कॉल कर सकते हैं। बीमा कंपनी के जिला स्तर पर श्री राजकिशोरसिंह के मोबाइल नंबर 9304196987 पर कॉल कर सकते हैं। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के महाप्रबंधक श्री आलोक जैन ने बताया कि जिले में तहसील स्तरों पर भी नुकसानी की सूचना दी जा सकती है। 
  • तहसील रतलाम में 930500 1390, 
  • तहसील आलोट में श्री आनंद शुक्ला 8318490738, 
  • तहसील बाजना में श्री जगदीश शर्मा 9450945711, 
  • तहसील जावरा में श्री बसंत कुमार 99204 72683, 
  • तहसील पिपलोदा में श्री विशालसिंह 89487 20642, 
  • तहसील सैलाना में श्री कमलेश यादव 76074 43835, 
  • तहसील रावटी में श्री सुरेश जाट 89623 5850 तथा 
  • तहसील ताल में श्री विनोद कुमार के मोबाइल नंबर 8839 73308 पर कॉल की जा सकती है।
Ratlam News-अतिवृष्टि प्रभावित 180 ग्रामीणों के घरों की मरम्मत के लिए एक करोड़ 42 लाख रुपए मंजूर
Ratlam News-अतिवृष्टि प्रभावित 180 ग्रामीणों के घरों की मरम्मत के लिए एक करोड़ 42 लाख रुपए मंजूर
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान के निर्देश पर खाद्य प्रतिष्ठानों का निरीक्षण सतत जारी है। इस क्रम में 26 अगस्त को जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में खाद्य एवं औषधि प्रशासन के दल द्वारा विभिन्न प्रतिष्ठानों का निरीक्षण कर खराब खाद्य सामग्री नष्ट कराई गई साथ ही प्रयोगशाला में भेजे जाने के लिए नमूने भी लिए गए।
    रतलाम ग्रामीण एसडीएम श्री प्रवीण फुलपगारे के नेतृत्व में दल द्वारा महू-नीमच रोड स्थित सातरुण्डा चौराहा एवं ग्राम लोचीतारा पर स्थित होटल एवं किराना स्टोर का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान राजेश्वरी रेस्टोरेंट, होटल सांई पैलेस से बर्फी, कुकिंग, मिडियम एवं पनीर का नमूना जांच हेतु लिया गया। राजेश्वरी रेस्टोरेट पर मानव उपयोग के लिए संग्रहित पैकेज ड्रिंकिंग वाटर की कुल 12 बोतले, थम्सअप, कार्बोनेट वाटर की 12 बोतले, एप्पी फ्रिज एपल जूस की 13 बोतले, लिम्का वाटर की 1 बोतल, हेल्थ प्लस मैंगों की 1 बोतल, मोरधन 500 ग्राम के 10 पैकेट, जलजीरा पावडर 200 ग्राम के 12 पैकेट, मिर्ची के 5 पैकेट, गुड 4 किलो, पतासे 30 किलो, साबुदाना 1 किलो सभी खराब होने से एवं होटल सांई पैलेस से सेवन अप की 6 बोतले तथा बेस्ट बिफोर डेट के बाद की संग्रहित खाद्य सुरक्षा अधिनियम की धारा 26 अन्तर्गत विनिष्टिकरण करवाया, जिसकी कुल कीमत 2630 रुपए है। 
    दल में श्री आर.आर. सोलंकी, श्रीमती प्रीति मण्डोरिया एवं यशवंत कुमार शर्मा आदि थे। इसी प्रकार की कार्रवाई एव नमूना संग्रहण का कार्य रतलाम, रतलाम ग्रामीण, जावरा, आलोट एवं सैलाना में निरन्तर जारी रहेगा।   

Continued inspection of food establishments in the district on the instructions of the collector- कलेक्टर के निर्देश पर जिले में खाद्य प्रतिष्ठानों का निरीक्षण सतत जारी

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। जिले में भी स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। स्कूली बच्चों द्वारा प्रभात फेरी निकाली गई। रतलाम में आयोजित मुख्य समारोह में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा मुख्य अतिथि के रूप में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली गई। कलेक्टर द्वारा खुली जीप में सवार होकर परेड का निरीक्षण किया गया। उनके साथ पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी भी थे। मुख्य अतिथि ने प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के संदेश का वाचन भी किया। इस दौरान पुलिस, होमगार्ड, एसएएफ, एनसीसी, स्काउट दलों द्वारा आकर्षक मार्च पास्ट किया गया, परेड का नेतृत्व रक्षित निरीक्षक श्री के.एस. कंवर ने किया।         
    हर्ष फायर हुआ। शांति, उन्नति, समृद्धि के प्रतीक गुब्बारे छोड़े गए। राष्ट्रगान, मध्यप्रदेश गान हुआ। मुख्य अतिथि द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों तथा शहीद के  परिवार का  सम्मान किया गया।
    कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्री प्रमेश मईडा, विधायक रतलाम ग्रामीण श्री दिलीप मकवाना, नगर निगम नेता प्रतिपक्ष श्रीमती यास्मीन शेरानी, डीआईजी श्री गौरव राजपूत, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, श्री राजेश भरावा, श्री पारस सकलेचा, श्री डी.पी. धाकड़,  नागरिकगण, अधिकारी, कर्मचारी, स्कूली बच्चे आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम में देशभक्ति से ओतप्रोत सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति स्कूली बच्चों द्वारा दी गई। उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों कर्मचारियों तथा अशासकीय व्यक्तियों को सम्मानित भी किया गया। 
          इस अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के संदेश वाचन किया गया। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत प्रथम चरण में 20 लाख 10 हजार किसानों के 50 हजार रुपए तक के चालू ऋण तथा 2 लाख रुपए तक के डिफाल्टर ऋण को माफ करने, द्वितीय चरण में 2 लाख रुपए तक के सहकारी बैंकों के चालू ऋण माफ करने की कार्रवाई प्रारम्भ करने, अन्य बैंकों की छानबीन पूरी होने पर आगे उनकी भी ऋण माफी कार्रवाई करने, रबि में उत्पादित गेहूं विक्रय पर 160 रुपए प्रति क्विंटल की प्रोत्साहन राशि देने, प्रदेश में पहली बार 1 हजार गौशालाओं का निर्माण हाथ में लेने, किसानों को आधी दरों पर बिजली और गरीबों को 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली देने, प्रदेश की औद्योगिक इकाईयों को 70 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के लोगों को ही देने सम्बन्धी कानून बनाने, युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार के लिए बनाई गई योजनाओं आदि जिक्र किया गया। इसके अलावा हर जिले में एक औद्योगिक क्षेत्र स्थापित करने की योजना, असंगठित मजदूरों के लिए नया सवेरा योजना, वृद्धजनों, निराश्रितों, दिव्यांगों आदि को दी जाने वाली पेंशन राशि में बढोत्तरी, मुख्यमंत्री कन्या विवाह-निकाह योजना की राशि में वृद्धि, जनअधिकार कार्यक्रम और साथ ही सभी आदिवासी विकासखण्डो में आदिवासी भाईयों के ऊपर सभी साहूकारी ऋणों को समाप्त घोषित करने के निर्णय का जिक्र किया। मुख्यमंत्री ने राज्य शासन की अन्य योजनाओं एवं कार्यक्रमों की भी जानकारी दी।
      स्वतंत्रता दिवस मुख्य समारोह में आयोजित परेड में 24 वीं बटालियन, एसएएफ ए कम्पनी रतलाम को प्रथम, एनसीसी सीनियर डिविजन गर्ल्स शा. कला एवं विज्ञान महाविद्यालय को द्वितीय तथा शौर्य दल को तृतीय एवं बालक शा. उत्कृष्ट मा.वि. सागोद रोड को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। इसी प्रकार सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत मार्निंग स्टार स्कूल को प्रथम, गुरु तेग बहादुर स्कूल को द्वितीय तथा कन्या उ.मा.वि. को तृतीय पुरस्कार दिया गया। रतलाम पब्लिक स्कूल को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। कार्यक्रम का संचालन श्री आशीष दशोत्तर तथा डा. पूर्णिमा शर्मा ने किया।

स्वतंत्रता दिवस पर धोंसवास स्कूल में बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन किया गया
    स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जिले में भी स्कूली बच्चों को विशेष मध्यान भोजन दिया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, डीआईजी श्री गौरव राजपूत, पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी द्वारा जिले के ग्राम धोंसवास के शासकीय  हायर सेकेंडरी  स्कूल में  विद्यार्थियों के साथ  मध्यान्ह भोजन किया गया। इस अवसर पर जिला सरपंच संघ अध्यक्ष श्री अभिषेक शर्मा, ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती कविता निनामा भी उपस्थित थी।


रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

सैलाना, रतलाम। राज्य शासन आदिवासियों की बेहतरी के लिए दृढ़ संकल्पित होकर कार्य कर रहा है। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने छिंदवाड़ा में आयोजित कार्यक्रम द्वारा आदिवासी समुदाय को कई सौगातें दी है। आदिवासी परिवार अपने उज्जवल भविष्य के लिए बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान देवें। यह बात विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर जिले के सैलाना में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए स्थानीय विधायक श्री हर्षविजय गहलोत ने कही। इस अवसर पर जनपद पंचायत उपाध्यक्ष श्री रूप  भगोरा, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी, एसडीएम श्रीमती कामिनी ठाकुर तथा बड़ी संख्या में आदिवासी समुदाय उपस्थित था। विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर जिले के बाजना तथा बिरमावल में भी कार्यक्रम आयोजित किए गए।  
    सैलाना में विधायक श्री हर्ष विजय गहलोत ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जनसंख्या बढ़ने के साथ ही परिवारों के पास कृषि भूमि का आकार निरंतर छोटा होता जा रहा है, इसलिए आदिवासी समाज मात्र खेती पर ही निर्भर नहीं रहे  बल्कि अपने भविष्य के लिए बच्चों की शिक्षा और दिक्षा पर महत्वपूर्ण रूप से ध्यान देवें। वर्तमान समय में शिक्षा का सबसे ज्यादा महत्व है। आदिवासी समुदाय प्रकृति से जुड़ा है इस समुदाय ने सदैव प्रकृति की रक्षा की है समुदाय को जल जंगल जमीन के साथ ही संस्कृति को भी सहेज कर रखना है।
      कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर छिंदवाड़ा में आयोजित कार्यक्रम में दिए गए। उद्बोधन का सीधा प्रसारण एलईडी के माध्यम से देखा सुना गया। इस अवसर पर आदिवासी समुदाय के प्रतिभावान बच्चों को पुरस्कृत  किया गया। जनजाति गीत, नृत्य आदिवासी युवाओं द्वारा प्रस्तुत किए गए। कुरीतियों के विरुद्ध नाटक का मंचन भी आदिवासी बच्चों द्वारा किया गया।

vishwa-aadiwasi-diwas-ratlam-राज्य शासन आदिवासियों की बेहतरी के लिए दृढ़ संकल्पित - विधायक श्री गहलोतvishwa-aadiwasi-diwas-ratlam-राज्य शासन आदिवासियों की बेहतरी के लिए दृढ़ संकल्पित - विधायक श्री गहलोत

vishwa-aadiwasi-diwas-ratlam-राज्य शासन आदिवासियों की बेहतरी के लिए दृढ़ संकल्पित - विधायक श्री गहलोत
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। प्रधानमंत्री आवास योजना बीएलसी घटक के हितग्राहियों को बकाया किश्त की राशि जल्द ही मिलेगी। एक सप्ताह में हितग्राहियों द्वारा दस्तावेजी प्रक्रिया पूर्ण किए जाने के बाद उनके खातों में राशि डलना आरंभ हो जाएगी। यह आश्वासन विधायक चेतन्य काश्यप ने की किश्ते नहीं मिलने से परेशान ईश्वर नगर एवं बजरंग नगर के हितग्राहियों को दिया।
   विधायक काश्यप ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हितग्राहियों को किश्ते नहीं मिलने का मामला विधानसभा में उठाया था। इस पर सरकार ने नगर निगम को बीएलसी घटक के हितग्राहियों के लिए राशि जारी करने की जानकारी दी है। स्थानीय स्तर पर दस्तावेजी कार्यवाही पूर्ण होने के बाद उपरोक्त राशि हितग्राहियों को मिलेगी, इसलिए पात्र हितग्राही अपने दस्तावेज प्रस्तुत कर कार्यवाही पूर्ण करावे।
       विधायक काश्यप से इससे पूर्व ईश्वर नगर के हितग्राहियों ने क्षेत्रीय पार्षद अनिता कटारा तथा बजरंग नगर के हितग्राहियों ने भाजपा झुग्गी झोपडी प्रकोष्ठ के मंडल संयोजक निखिल पांचाल,आलोक राठौड एवं रमेश पांचाल के नैतत्व में मुलाकात की। उन्होंने किश्त नहीं मिलने और बारिश में मकान खुले होने से परिवार के समक्ष उपज रही समस्याओं से अवगत कराया। श्री काश्यप से आश्वस्त होने के बाद सभी ने उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान पूर्व महापौर शैलेन्द्र डागा भी मौजूद थे।

ratlam news- प्रधानमंत्री आवास बीएलसी घटक के हितग्राहियों को जल्द मिलेगी बकाया किश्त - विधायक काश्यप

ratlam news- प्रधानमंत्री आवास बीएलसी घटक के हितग्राहियों को जल्द मिलेगी बकाया किश्त - विधायक काश्यप
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान के निर्देश पर खाद्य एवं औषधि प्रशासन दल द्वारा जिले की आलोट तहसील के ग्राम शेरपुर खुर्द में मावा भट्टियों पर आकस्मिक छापामार कार्रवाई की गई। दल द्वारा अवैध रुप से संचालित की जा रही मावा भट्टियों से कुल 5 नमूने (2 मावा, 1 घी, 2 अपद्रव्य) संग्रहण कर मावा भट्टियों को धारा 31 के तहत सीज किया गया। जब्त खाद्य पदार्थ 32 घी (86400 रुपए) के 15 किलो के डिब्बे, 2 डिब्बे वनस्पति (2600 रुपए) कुल कीमत 89 हजार रुपए का माल जब्त किया गया। 15 किलो फफूंद लगी क्रिम व 35 किलो मिलावटी मावा नष्ट किया गया। वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि जब्त नमूनों को राज्य खाद्य प्रयोगशाला भोपाल जांच हेतु भेजा गया है।
Ratlam News- मावा भट्टियों पर छापामार कार्यवाही
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। नगर को हरा भरा बनाने के उद्देश्य से ‘हरियाली-ए-रतलाम’  कार्यक्रम के तहत वृक्षारोपण कार्य जारी है। रविवार 7 जुलाई को भी सुबह पौधों का रोपण किया गया। इस रविवार महापौर डॉ. सुनीता यार्दे, नगर निगम नेता प्रतिपक्ष श्रीमती यास्मीन शेरानी, श्री पारस सकलेचा, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी तथा नागरिकों ने शांति नगर तथा विक्रम नगर के बगीचों में वृक्षारोपण किया। 
        सुबह-सुबह शांति नगर तथा विक्रम नगर के बगीचों में बड़ी संख्या में नागरिक कलेक्टर के आह्वान पर वृक्षारोपण के लिए पहुंचे। अपर कलेक्टर श्री जितेंद्र सिंह चौहान, एसडीएम श्रीमती लक्ष्मी गामड़, श्री प्रवीण कुमार फूलपगारे, सुश्री शिराली जैन, थोक व्यापारी संघ के अध्यक्ष श्री मनोज झालानी, अतिरिक्त सीईओ जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा, सहायक संचालक महिला बाल विकास सुश्री अंकिता पंड्या, श्रीमती प्रेरणा तोगड़े, उपसंचालक कृषि श्री जी.एस. मोहनिया, सहायक संचालक मत्स्य श्री बहादुर सिंह डामोर ने भी वृक्षारोपण किया।
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। जिले में वर्ष 2019 में श्रेष्ठ परिणाम देने वाले प्राचार्य तथा शिक्षक शनिवार को एक कार्यक्रम में सम्मानित किए गए। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा जिले के 25 प्राचार्य तथा 30 शिक्षकों को कक्षा 10वीं तथा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में उत्कृष्ट परिणामों के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्री सोमेश मिश्रा, जिला शिक्षा अधिकारी श्री अमर वरदानी, डीपीसी श्री आरके त्रिपाठी ,सहायक आयुक्त जनजाति कार्य विभाग श्री आर एस परिहार भी उपस्थित थे। 
        सम्मानित प्राचार्य तथा शिक्षकों को स्मृति चिन्ह तथा प्रमाण पत्र प्रदान किए गए इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती चौहान ने कहा कि चुनाव कार्यों में तत्परता एवं मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी निभाने के बावजूद शिक्षकों द्वारा उत्कृष्ट कार्य किया जा कर जिले को शिक्षा के क्षेत्र में नया आयाम दिया गया है। इस वर्ष रतलाम जिला बोर्ड परीक्षा परिणामों में छठे स्थान पर रहा है अब सूक्ष्मकारी योजना तैयार करके जिले को प्रदेश में प्रथम स्थान पर लाने के लिए हम सभी जुट जाएं ।उन्होंने सभी शिक्षकों को अच्छे परिणामों के लिए बधाई दी। 
       सीईओ जिला पंचायत श्री सोमेश मिश्रा ने संबोधित करते हुए कहा कि स्कूलों में शिक्षा का अधिकार गणवेश वितरण छात्रवृत्ति वितरण इत्यादि सभी ऑनलाइन कार्यों में प्राचार्य एवं शिक्षक समय सीमा का ध्यान रखें। स्कूलों में वार्षिक कार्यों का कैलेंडर तैयार किया जाए। उनकी समय सीमा निर्धारित करते हुए अपने दायित्वो का निर्वहन करें। जिला शिक्षा अधिकारी श्री अमर वरदानी ने शैक्षिक अभी उत्थान योजना के तहत आयोजित प्राचार्य शिक्षक सम्मान समारोह की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दिनभर चली कार्यशाला में स्कूलों में ब्रिज कोर्स के सुनियोजित ढंग से संचालन तथा शिक्षा विभाग में लागू शैक्षणिक योजनाओं के समुचित क्रियान्वयन पर प्रशिक्षण दिया गया।


रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम/जावरा। जावरा पुलिस एक मामले में जांच पड़ताल कर रही थी की तभी पुलिस के हाथ एक नया केस लग गया। हाथोहाथ पुलिस ने इसकी पडताल की तो मोबाइल धोखाधडी का एक बड़ा रैकेट का फंडाफोड़ हुआ। पुलिस ने इस मामले में 3 लोगो को गिरफ्तार किया है । बताया जा रहा है कि 19 राज्यो में इस प्रकार का रैकेट चल रहा है। जावरा सीएसपी आगम जैन ने बताया कि पुलिस एक मामले में जांच कर रही थी कि उसे एक ही आईएमआई से कई सिम चलने की सूचना मिली। इस पर पुलिस ने बारीकी से जांच पड़ताल की तो मामला सामने आया। पुलिस ने अभी तक एक मामले में 63 मोबाइल डिस्ट्रीब्यूटर ओर कस्टमर से जब्त कर लिए है । वही इस मामले में साइबर एक्सपर्ट की मदद से रतलाम ओर इंदौर में भी जानकारी जुटाई जा रही है।
अंतराज्यीय हो सकता है गिरोह     
एक ही आईएमईआई नंबर के कई मोबाइल चलने का फर्जीवाडा सामने आने के बाद अब पुलिस इसके पूरे नेटवर्क को खंगाल सकती है। सूत्रो के मुताबिक इंदौर के कारोबारी से दिल्ली तक का नेटवर्क भी मिल जाए। दरअसल यह सिर्फ धोखाधडी ही नही एक गंभीर अपराध भी है। क्योकि एक ही आईएमईआई नंबर से कई मोबाइल चलने के कारण पुलिस को हत्या, लूट, चोरी जैसे कई संगीन मामलो की पडताल में परेशानी आती है और आरोपी बच निकलते है।


रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। प्रदेश में नागरिकों की सुविधा के लिये लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सभी चिकित्सालय में चिकित्सक सुबह 9 से शाम 4 बजे तक ओपीडी में मरीजों का उपचार करेंगे। ओपीडी में होने वाला पंजीयन शाम 3.30 बजे तक किसी भी स्थिति में बंद नहीं किया जायेगा। चिकित्सालयों में अब खून-पेशाब की जाँच एवं एक्स-रे की सुविधा के लिये पेथालॉजी लैब भी सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक खुली रहेगी। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा आज जारी आदेश में चिकित्सालयों के समय का पुनर्निर्धारण करते हुए चिकित्सालयों में अन्य व्यवस्थाओं एवं उपचार आदि की प्रक्रिया से जुड़े मेडिकल स्टॉफ की ड्यूटी के संबंध में विस्तृत निर्देश दिये गये हैं। चिकित्सालय में सुबह 9 से शाम 4 बजे तक ओपीडी के समय में दोपहर 1.30 से 2.15 तक भोजन अवकाश रहेगा।  
        सामान्य दिनों के साथ रविवार एवं अवकाश दिवसों में जिला एवं सिविल चिकित्सालयों में आपातकालीन ओपीडी 24 घंटे खुली रहेगी। सभी विशेषज्ञ और चिकित्सक सुबह 9 से 11 बजे तक अपने वार्डों में राउण्ड लेंगे। सप्ताह में यदि दो दिन का निरंतर शासकीय अवकाश होता है, तो उसमें से दूसरे अवकाश के दिन नियमित ओपीडी सुबह 9 से 11 बजे तक खुली रहेगी। चिकित्सालयों में निरंतर दो दिन नियमित ओपीडी बंद नहीं रहेगी। चिकित्सालयों में अन्तः रोगी विभाग सामान्य दिनों में वार्ड एवं पलंग के प्रभारी सभी चिकित्सक एवं विशेषज्ञ अपने-अपने वार्ड का राउण्ड इस प्रकार सुनिश्चित करेंगे कि ओपीडी सेवाएँ प्रभावित नहीं हों। 
शासकीय चिकित्सालयों में सुबह 9 से शाम 4 बजे तक ओपीडी, एक्स-रे, पैथालॉजी की सुविधा शुरू        आपातकालीन सेवाएँ जिला एवं सिविल चिकित्सालयों में चौबीस घंटे उपलब्ध रहेंगी। इन चिकित्सालयों में सुबह 8 से दोपहर 2 बजे, दोपहर 2 से रात्रि 8 बजे और रात्रि 8 से सुबह 8 बजे की तीन शिफ्ट रहेगी। इमरजेंसी में आने वाले किसी भी रोगी को (भले ही वह छोटी बीमारी/लक्षण के उपचार के लिये आया हो) जाँच एवं उपचार करने से मना नहीं किया जायेगा। चिकित्सालयों का जाँच (पेथालॉजी, एक्स-रे एवं बॉयोकेमिकल) विभाग भी सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक खुला रहेगा। फास्टिंग सेम्पल कलेक्शन के लिये लेब टेक्नीशियन सुबह 8 बजे से उपस्थित रहेगा। सुबह 11 बजे तक लिये गये सेम्पल की रिपोर्ट उसी दिन दोपहर एक बजे तक और पूर्वान्ह 11 से दोपहर 2 बजे के बीच लिये गये सेम्पल्स की रिपोर्ट उसी दिन दोपहर 3 से शाम 4 बजे तक दी जायेगी। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी आदेश में चिकित्सकों, विशेषज्ञों की ड्यूटी के संबंध में भी स्पष्ट एवं विस्तृत निर्देश दिये गये हैं, ताकि किसी मेडिकल एवं पैरामेडिकल स्टॉफ को परिवर्तित व्यवस्था से असुविधा नहीं हो।
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान के निर्देश पर संयुक्त दल द्वारा रतलाम नगर में विभिन्न खाद्य प्रतिष्ठानों से जांच के लिए नमूने प्राप्त किए गए। 30 मई को सहायक कलेक्टर सुश्री तपस्या परिहार के साथ खाद्य आपूर्ति विभाग, खाद्य एवं औषधि प्रशासन तथा नगर निगम के संयुक्त अमले द्वारा मिठाई एवं बर्फ फैक्ट्री से नमूने लिए गए। जिला आपूर्ति अधिकारी श्री विवेक सक्सेना ने बताया कि संयुक्त दल द्वारा पावर हाउस रोड स्थित रतलाम आइस फैक्ट्री तथा बंजली स्थित व्यास आइस फैक्ट्री से बर्फ के नमूने लिए गए। 
       इसी प्रकार दो बत्ती क्षेत्र में बालाजी स्वीट्स से मिठाई के नमूने तथा टॉप एंड टाउन से आइसक्रीम के नमूने प्राप्त किए गए। श्री सक्सेना ने बताया कि जिले में दूषित खाद्य पदार्थों की बिक्री के विरुद्ध जारी अभियान आगामी दिनों की सतत् चलेगा। संयुक्त दल में सहायक आपूर्ति अधिकारी श्री उमेश पांडे, खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वय श्री आर.आर सोलंकी, श्रीमती ज्योति बघेल, सहायक खाद्य अधिकारी श्री मोहित मेघवंशी तथा नगर निगम के स्वास्थ्य निरीक्षक श्री सिंह सम्मिलित थे।

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। हमारे यहां सामाजिक समरसता की एक लंबी परंपरा रही है। सभी ग्रामीण इस परंपरा को सामंजस्य के साथ निभाते चले किसी असामाजिक तत्व के बहकावे में नहीं आए यह बात कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान तथा पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी ने जिले के ग्राम बरबोदना एवं राकोदा में चर्चा के दौरान ग्रामीणों से कहीं। अधिकारी द्वय ने कहा कि कोई भी व्यक्ति अपने आप को कानून से ऊपर नहीं समझे दबंगई दिखाने वालों से सख्ती के साथ निपटा जाएगा। शासन-प्रशासन किसी भी कमजोर वर्ग के हितों की रक्षा के लिए कटिबद्ध है। कलेक्टर व एसपी ने गांव में स्पष्ट लहजे में कहा कि कोई भी व्यक्ति अगर दबंगई दिखाता है तो प्रशासन एवं कानून उसके विरुद्ध बेहद सख्ती के साथ कार्रवाई करेगा। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वह गलत व्यक्तियों को चिन्हित करें उनकी जानकारी प्रशासन को दें। सामाजिक समरसता को बिगाड़ने वाले व्यक्तियों को अपने मध्य पनपने नहीं दें। अपने गांव की छवि खराब नहीं होने दे। 
            कलेक्टर श्रीमती चौहान ने ग्रामीणों को शिक्षा का अधिकार अधिनियम की जानकारी दी साथ में ग्रामीणों से आग्रह किया कि इस अधिनियम का लाभ उठाएं। प्राइवेट स्कूलों में 25 प्रतिशत स्थानों पर कमजोर वर्ग के बच्चे एडमिशन ले सकते है। ग्राम पंचायतों के सचिवों को कलेक्टर द्वारा निर्देशित किया गया कि शासन द्वारा पेंशन योजना राशि में बढ़ोतरी के दृष्टिगत संभावित पात्र व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए लाभ दिलाएं। ग्राम बरबोदना में ग्रामीणों द्वारा जल समस्या बताई जाने पर कलेक्टर द्वारा अतिशीघ्र निराकरण के लिए आश्वस्त करते हुए कहा कि पीएचई विभाग द्वारा एक मोटर शीघ्र गांव को दिलाई जाएगी, एक मोटर का प्रबंध ग्राम पंचायत करेगी। गांव के समीपस्थ कुएं से गांव तक जल लाने के लिए पाइप तथा अन्य अधोसंरचना का इंतजाम भी कर दिया जाएगा। कलेक्टर ने गांव वालों से आग्रह किया कि अपने गांव के कुपोषित बच्चों की मदद के लिए आगे आए। वह गरीब परिवारों के कुपोषित बच्चों को विभिन्न प्रकार से मदद कर सकते हैं ताकि वह स्वस्थ होकर अच्छा जीवन जी सकें। कलेक्टर की बात पर ग्रामीणों द्वारा सहमति जताई गई।

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

झाबुआ। लोकसभा निर्वाचन 2019 के लिये संसदीय क्षेत्र रतलाम-24 के लिये विधानसभा क्षेत्र रतलाम ग्रामीण-219, विधानसभा क्षेत्र रतलाम शहरी-220 एवं विधानसभा क्षेत्र सैलाना-221 के मतो की गणना शासकीय कला एवं विज्ञान महाविद्यालय रतलाम मे की गई। विधानसभा क्षेत्र-191 अलीराजपुर, विधानसभा क्षेत्र-192 जोबट के मतो की गणना शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अलीराजपुर मे की गई। विधानसभा क्षेत्र झाबुआ-193, विधानसभा क्षेत्र थांदला-194 एवं विधानसभा क्षेत्र पेटलावद-195 के मतो की गणना का कार्य शासकीय पोलेटेक्निक कॉलेज झाबुआ मे किया गया।
विधानसभा क्षेत्रो एवं जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार विजय हुए उम्मीदवार श्री गुमानसिंह डामोर को 696103 मत प्राप्त हुए। उनके नजदीकी प्रतिद्वंदी श्री कांतिलाल भूरिया को 605467 मत प्राप्त हुए। इसके अलावा अन्य प्रत्याशियो मे माधुसिंह पटेल को 13753, एडवोकेट कटारा रूखमानसिंह को 3850, कमलेष्वर भील को 14784, सूरज भाबर को 5584, सूरजसिंह कालिया को 6320, 108 निलेश डामोर को 6378, रंगलपा कलेश को 12839  एवं नोटा को 35431 मत प्राप्त हुए।         
रिटर्निंग अधिकारी संसदीय क्षेत्र रतलाम-24 श्री प्रबल सिपाहा द्वारा सभी आठो विधानसभा के मतो की गणना के अनुसार पूरे संसदीय क्षेत्र रतलाम-24 के लिये भाजपा प्रत्याशी श्री गुमानसिंह डामोर को 90636 मतो से निर्वाचित घोषित किया गया। निर्वाचित अभ्यर्थी को रिटर्निंग अधिकारी द्वारा प्रमाण पत्र प्रदाय किया गया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, मतगणना प्रेक्षक श्री प्रकाश बिंदु, सहायक रिटर्निंग अधिकारी झाबुआ श्री के सी परते, सहायक रिटर्निंग अधिकारी थांदला श्री बघेल, सहायक रिटर्निंग अधिकारी पेटलावद श्री हर्षल पंचोली सहित शासकीय सेवक उपस्थित थे।


और पड़े
शेयर

रतलाम। लोकसभा निर्वाचन 2019 के तहत रतलाम जिले में शांतिपूर्ण मतदान की खबर है। मतदान के लिए मतदाताओं में अपूर्व उत्साह देखा गया। इसके चलते जिले में अनुमानित 79.45 प्रतिशत मतदान की सूचना मिली है। लोकसभा निर्वाचन के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान के नेतृत्व में सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रूप से की गई। मतदान दिवस पर जिला निर्वाचन अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा जिले में सतत् भ्रमण करते हुए अधिकारियो, कर्मचारियों को दिशा निर्देशित किया गया। चुनाव आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षकगणों और सेक्टर अधिकारियों द्वारा भी सतत् भ्रमण करते हुए कानून व्यवस्था की निगरानी की गई। प्राप्त सूचना के अनुसार जिले में लगभग 79.45 प्रतिशत मतदान हुआ है। 
       विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र रतलाम ग्रामीण में कुल 83.56 प्रतिशत मतदान की खबर है जिसमें पुरूष 86.67 प्रतिशत व महिला 80.36 प्रतिशत मतदान रहा, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र रतलाम सिटी में कुल 73.14 प्रतिशत मतदान की खबर है जिसमें पुरूष 75.19 प्रतिशत व महिला 71.04 प्रतिशत रहा, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र सैलाना में कुल 84.19 प्रतिशत मतदान की खबर है जिसमें पुरूष 85.58 प्रतिशत व महिला 82.822 प्रतिशत रहा, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र जावरा में कुल मतदान 77.81 प्रतिशत की खबर है जिसमें पुरूष 80.82 प्रतिशत व महिला 74.64 प्रतिशत रहा तथा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आलोट में कुल मतदान 79.27 प्रतिशत की खबर है जिसमें पुरूष 83.05 प्रतिशत व महिला 75.251 प्रतिशत रहा है। जिले मे कुल पुरूष मतदान 82.13 प्रतिशत एवं महिला मतदान 76.69 प्रतिशत रहा। 
शांतिपूर्ण मतदान के लिए कलेक्टर तथा एसपी द्वारा आभार व्यक्त 
रतलाम जिले में लोकसभा निर्वाचन शांतिपूर्ण संपन्न होने पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान तथा पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी ने सभी व्यक्तियों का आभार व्यक्त किया है। अधिकारी द्वय ने कहा है कि शासकीय अमले के साथ- साथ आमजन के सहयोग से जिले में सुव्यवस्थित ढंग से शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हुआ है। 
मतदान दलों द्वारा आर्टस एवं साइंस कॉलेज मे सामग्री जमा की गई
लोकसभा निर्वाचन संपन्न होने के पश्चात मतदान दलों द्वारा देर शाम से मतदान सामग्री जमा कराने का कार्य शासकीय आर्ट्स एवं साइंस कॉलेज परिसर में आरंभ कर दिया गया था। सबसे पहले विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र रतलाम ग्रामीण के मतदान केंद्र क्रमांक 189 भील खेड़ी के मतदान दल द्वारा सामग्री जमा कराई गई। सबसे पहले आने पर वहां मौजूद कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा भील खेड़ी के मतदान दल को बधाई दी गई। जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों से मतदान सामग्री आर्ट्स एवं साइंस कॉलेज परिसर में जमा की गई। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा माकूल व्यवस्था की गई थी।

ratlam news-रतलाम जिले में शांतिपूर्ण मतदान , जिले में अनुमानित 79.45 प्रतिशत मतदान- 79.45-percent-polling-in-district-Peaceful-voting-in-Ratlam-district
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। लोकसभा निर्वाचन 2019 के अंतर्गत आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर दो व्यक्तियों के विरूद्ध पुलिस थानों में एफ.आई.आर दर्ज करवाई गई है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान ने बताया कि मोती मोबाइल शॉप स्टेशन रोड रतलाम के निलेश पिता मोतीलाल पिरोदिया के विरुद्ध भारतीय दंड विधान की धारा 188 एवं धारा 171 ‘ई’ के तहत पुलिस थाना स्टेशन रोड रतलाम में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है। इसके अलावा धराड़ निवासी लाखन सिंह पिता भेरु सिंह चंद्रावत के विरुद्ध भारतीय दंड विधान की धारा 188 एवं लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 128 के तहत पुलिस थाना बिलपांक में प्रकरण कायम किया गया है।
और पड़े
शेयर

रतलाम। उज्जैन संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले जिले के आलोट में शनिवार को कांग्रेस की जनसभा के दौरान भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जमकर विवाद हुआ। विवाद में लाठियां चली और पथराव भी हुआ। इसके कारण कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू की सभा को निरस्त करना पड़ा। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार,आलोट के विक्रम क्लब मैदान पर सुबह साढे दस बजे कांग्रेस द्वारा स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू की सभा आयोजित की गई थी। सिद्धू को देखने आए लोग करीब दो ढाई घंटे तक इंतजार करते रहे, लेकिन बाद में पता चला कि सिध्दू का कार्यक्रम निरस्त हो गया है। 
ratlam news-सिद्धु की सभा के पूर्व ही कांग्रेस और भाजपा में हुई भिड़ंत       इस मामले में दोनो ही पार्टियों के नेताओं के अलग अलग कथन है। कांग्रेस नेता जिला पंचायत के पूर्व उपाध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह सोलंकी का कहना है कि भाजपा के लोग हाथों में काले झंडे लेकर सभा के बीच में चले आए और नारेबाजी करने लगे। अगर उन्हे विरोध प्रदर्शन करना था,तो रास्ते में कहीं कर सकते थे,लेकिन सभास्थल पर पंहुचकर नारेबाजी करने से कांग्रेस कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए और उन्होने भाजपाईयों को वहां से खदेड दिया। सोंलकी के मुताबिक पुलिस उनके विरुध्द कार्यवाही कर रही है। 
    विधायक मनोज चावला के मुताबिक भाजपा नेताओ की हरकत के कारण कांग्रेस के कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए। पुुलिस द्वारा दोनों पक्षों के विरूद्ध कार्र्रवाई किए जाने की जानकारी मिली है।
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें

और पड़े
शेयर

रतलाम। मम्मी पापा आप 19 मई को अपना वोट देने जरूर जाएं जितना ज्यादा मतदान होगा उतनी ही अच्छी सरकार बनती है। रतलाम के सैलाना रोड स्थित गुरु तेग बहादुर एकेडमी के बच्चों ने यह अपील अपने मम्मी-पापा को लिखे पत्रों में की। 25 अप्रैल को जिलेभर में स्कूलों के बच्चों द्वारा लोकसभा निर्वाचन में मतदान का आग्रह करते हुए अपने माता-पिता को पाती लिखी गई। श्री गुरु तेग बहादुर स्कूल में लगभग 300 बच्चों द्वारा यह पाती लिखी गई। इस अवसर पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान तथा जिला पंचायत के सीईओ श्री सोमेश मिश्रा द्वारा भी स्कूल पहुंचकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया गया। 
        श्रेष्ठ पत्र लिखने वाले बच्चों को पुरस्कृत भी किया गया। प्रथम पुरस्कार कक्षा सातवीं की बालिका वंशिका बोरासी को दिया गया। द्वितीय पुरस्कार कक्षा 5 वीं की बालिका ध्रुवी जोशी तथा तृतीय पुरस्कार कक्षा छठी के बालक पवित्र वाधवा को मिला। कलेक्टर श्रीमती चौहान ने इस अवसर पर बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि लोकसभा निर्वाचन के अवसर पर आगामी 19 मई को आपके माता-पिता एवं सभी पात्र मतदाता रिश्तेदारों को अपने मताधिकार का उपयोग करने के लिए आग्रह करें। 
    सीईओ जिला पंचायत श्री सोमेश मिश्रा ने भी बच्चों से आग्रह किया कि वह अपने पालक तथा परिचित रिश्तेदारों को मताधिकार का उपयोग करने के लिए बताएं। इस दौरान डीपीसी श्री आर.के. त्रिपाठी, सहायक संचालक महिला बाल विकास सुश्री अंकिता पंड्या, स्कूल प्राचार्य डॉ. रेखा शास्त्री तथा विद्यालय स्टाफ उपस्थित था।

ratlam news-तेग बहादुर स्कूल के 300 बच्चों ने अपने पालकों को लिखी पाती
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। पांच वर्षीय बालक का अपहरण कर उसके साथ कुकर्म करने के बाद हत्या करने के मामले में उसके ही पड़ोसी 19 वर्षीय सोहेल अंसारी तथा उसका सहयोग करने वाली उसकी 25 वर्षीय बहन कश्मीरा को पुलिस ने गिरफ्तार कर शनिवार को मामले का खुलासा कर दिया है। डीआईजी गौरव राजपूत तथा एसपी गौरव तिवारी ने शनिवार को कंट्रोल रूम में हुई प्रेस वार्ता में पत्रकारों को बताया कि गत 13 अप्रैल की शाम पांच वर्षीय फेजान पुत्र जफर हुसैन निवासी हाट की चौकी का उस समय अपहरण हो गया, जब वह अपने घर के सामने ही खेल रहा था। जब बालक नहीं मिला तो माणकचौक थाने में दर्ज प्रकरण के आधार पर उसकी खोजबीन शुरू हुई। फेजान की बस स्टेण्ड, रेलवे स्टेशन सहित अन्य संदिग्ध जगहों पर सर्चिंग हुई। जब नहीं मिला तो सोशल मीडिया के जरिये बालक के फोटो का अधिक से अधिक शेयर किया गया तथा पता बताने वाले को 10 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया।  
      अधिकारीयो ने बताया कि घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक राकेश गुप्ता के निर्देश पर अलग-अलग टीमों का गठन किया गया और योजनाबद्ध तरीके से सर्चिंग की गई। लगभग 200 मकानों के घरों की सर्चिंग की गई। पानी की टंकी, सिवर लाईन , सेफ्टीटेंक आदि में भी तलाशी की गई और 100 से अधिक लोगों से सघन पूछताछ की गई। एक हजार से अधिक चार पहिया वाहन चालकों से पूछताछ की गई और टोलनाकों पर भी जानकारी एकत्रित की गई। सीटीटीवी कैमरे खंगाले गए। स्कूल के दोस्तों, परिवार के बच्चों से जानकारी ली गई। लगभग पांच लाख से अधिक मोबाइल नंबरों की सर्चिंग की गई। इस मामले में 100 से अधिक पुलिस अधिकारी, कर्मचारी लगाए गए।
ratlam-news-पांच वर्षीय बच्चे के अपहरण एवं हत्या के आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे
शव बरामद होने पर पुलिस हरकत में आई
उसके बाद 23 अप्रैल को सोहेल उर्फ मोनु पिता अल्ताफ के घर के पीछे नाले के पास एक अज्ञात बालक का शव बोरी में सर्चिंग के दौरान पुलिस को मिला, जिसकी शिनाख्ती फैजान पिता जफर के रूप में की गई। इस जघन्य हत्याकांड की गंभीरता को देखते हुए डीआईजी गुप्ता ने 30 हजार के इनाम की घोषणा कीगई। अपह्त बालक के शव मिलने के बाद उसका डीएनए टेस्ट कराया गया। बालक के मुंह, नाक में सेलो टेप चिपके होने से आक्सीजन की कमी से उसकी मृत्यु होना बताया गया था, साथ ही अप्राकृतिक कृत्य की संभावना भी बताई गई, जिसकी पुष्टि के लिए सेंपल सुरक्षित कर प्रकरण में धारा 302 का इजाफा किया गया।
     अधिकारियों ने बताया कि घटना स्थल से लाश को छुपाने हेतु प्रयुक्त जुट के बोरो पर सिलाई में प्रयुक्त किए जाने वाले रंगीन धागों के टूकड़े मिलने से पुलिस को शंका हुई कि या तो बोरे किसी टेलर के यहां से चोरी कर घटना में प्रयुक्त किए गए या आरोपित के घर सिलाई का कार्य किया जाता है। इसी आधार पर पुलिस ने पड़ताल आगे बड़ाई तथा कई दुकानों पर पूछताछ की गई। डाक्टरों के पेनल द्वारा की गई पोस्टमार्टम की विडियोग्राफी करवाई गई तथा डीएनए परीक्षण हेतु सागर लेब भेजा गया। डाक्टरों के अनुसार बालक की मृत्यु 10 दिन पूर्व होना बताया। पुलिस को पड़ताल के दौरान सबसे अधिक शंका फरियादी के पड़ोसी सोहेल पर हुई। जब उससे कड़ाई से पूछताछ की गई तो वह लगातार गुमराह करता रहा। उसने बालक के परिजनों को भी गुमराह किया और लगातार उनके साथ रहकर सहानुभूति भी प्राप्त की तथा बच्चे को उनके साथ तलाशता रहा।
     जांच में सोहेल पर ही पुलिस को शक गया और उससे कड़ी पूछताछ की गई तो उसने अपराध कबूल लिया और बताया कि 13 अप्रैल को शाम को 5 बजे वह जब घर आया तो अश्लील विडियो देखकर वह उत्तेजित हो गया था और उसने बालक फेजान को आवाज देकर अपने घर बुला लिया और घर में पहले से रखे सेलो टेप से उसका मुंह, नाक, कान चिपका दिया, ताकि वह चिल्ला न सके। बाद में दम घुटने से उसकी मृत्यु हो गई। कुष्कर्म करने के बाद उसने मृतक के शव को वाशिंग मशीन में छुपा दिया। 
15 अप्रैल को जब पुलिस उससे पूछताछ करने थाने ले गई तो उसकी बड़ी बहन कश्मीरा घर आई तो उसने घर की वाशिंग मशीन में बच्चे के शव को देखा तो यह बात उसने पुलिस को नहीं बताई। 16 अप्रैल को अपने भाई को माणकचौक थाने से लेकर सीधे खंडवा चली गई। खंडवा से शादी से आने के बाद बच्चे की लाश को घर के पीछे नाले में फेंक दिया। बाद में जांच में आए तथ्यों के आधार पर सोहेल तथा उसकी बहन कश्मीरा को गिरफ्तार कर लिया और प्रकरण में धारा 302, 201 के साथ 377 भादवि एवं 5 आईएम / 6पाक्सो एक्ट का इजाफा कर विवेचना में लिया गया। पत्रकार वार्ता में दोनों आरोपितों के पेश किया गया।
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। लोकसभा चुनाव 2019 में छठे चरण के तहत 12 मई को 7 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होना है। इनमें मध्य प्रदेश की 8 सीटें भी शामिल हैं। इधर, चुनाव प्रचार भी परवान पर है। मध्य प्रदेश के रतलाम लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया लगातार विवादों में पड़ते जा रहे हैं। कांतिलाल भूरिया के पिछले कई दिन से ग्रामीण इलाकों में विरोध के वीडियो वायरल हो रहे हैं। वहीं मतदाताओं से जनसम्पर्क में चौकीदार चोर की टीशर्ट कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा पहनने को लेकर निर्वाचन में शिकयत भी हो चुकी है। अब कांतिलाल भूरिया के समर्थन में आए कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल की सभा में कांग्रेस अध्यक्ष कथित रूप से रुपए बांटने का वीडियो वायरल हो रहा है। कांग्रेस जिला ग्रामीण अध्यक्ष ने इसके लिए सफाई दी है कि टेंट व अन्य सामान वालों को रुपए दिए जा रहे थे। 
      बताया जा रहा है कि गुरुवार को कांतिलाल भूरिया के समर्थन में कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल की सभा के बाद सभा में आए लोगों को गाड़ी में पेट्रोल के लिए रुपए बांटने के वीडियो वायरल हुए हैं। वायरल वीडियो में खुद कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेश भरावा गाड़ी नंबर स्लिप लेकर पैसे देते नजर आ रहे हैं। जैसे ही उनकी नजर उन्हें मोबाइल में कवर कर रहे मोबाइल पर गयी तो वे मौके से दौड़ लगाते भी नजर आए हैं। हालांकि बाद में कांग्रेस ग्रमीण अध्यक्ष ने मीडिया को सफाई दी कि वह सभा में लगाए टेंट, पानी, साउंड के बिल का भुगतान कर थे।

ratlam-news-कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल की सभा में रुपए बांटने का वीडियो वायरल

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। मतदाता जागरूकता अभियान के तहत जावरा में एक बड़ा कार्यक्रम 30 अप्रैल की शाम को आयोजित किया गया। ‘‘कैनवास के रंग लोकतंत्र के संग’’ थीम पर आयोजित इस चित्रकला प्रतियोगिता के दौरान जावरा के बच्चों के साथ साथ रतलाम से पहुंचे कलेक्टर एसपी ने भी अपने हाथों में कूची लेकर मतदाता जागरूकता का संदेश दीवार पर उकेरा। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने अपने हाथों से दीवार पर भारत का नक्शा बनाते हुए वोट फॉर इंडिया 19 मई 2019 अंकित किया पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी ने भी मतदाता जागरूकता को लेकर प्रेरक वाक्य अंकित किया। इस अवसर पर जावरा एसडीएम श्री एमएल आर्य तथा अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। चित्रकला प्रतियोगिता में जावरा के बच्चों ने भी बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। 
        मतदाता जागरूकता के प्रेरक संदेश चित्रों के माध्यम से दिए। इसके पूर्व कलेक्टर तथा एसपी ने वोटर सेल्फी प्वाइंट का भी शुभारंभ किया। कार्यक्रम जावरा चौपाटी पर आयोजित हुआ। इस अवसर पर एक लघु नाटिका भी मंचित की गई। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए आग्रह किया कि इस लोक सभा निर्वाचन में भी अधिकाधिक लोगों को मतदान के लिए जागरूक किया जाए। जावरा विधानसभा क्षेत्र में विगत विधानसभा निर्वाचन के दौरान भी उल्लेखनीय रूप से कार्य किया गया था।

ratlam-news-बच्चों के साथ-साथ कलेक्टर एसपी ने भी हाथों में कूची लेकर मतदाता जागरूकता का संदेश उकेरा

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। लोकसभा निर्वाचन 2019 में मतदान के लिए कर्मचारियों को सामग्री वितरण तथा वापसी हेतु सुनियोजित ढंग से पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। विधानसभा निर्वाचन की तुलना में इस लोकसभा निर्वाचन में सामग्री जमा करने के लिए 3 गुना से भी ज्यादा कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान ने 29 अप्रैल की शाम को स्थानीय आर्ट्स एवं साइंस कॉलेज परिसर में सामग्री वितरण तथा वापसी व्यवस्था के लिए अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत श्री सोमेश मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री जितेंद्र सिंह चौहान, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण कुमार फुलपगारे, निगम आयुक्त श्री एस.के. सिंह, ईईपीडब्ल्यू श्री जावेद शकील, एसडीएम तथा तहसीलदार उपस्थित थे। 
      जिला निर्वाचन अधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सामग्री वितरण स्थल पर ग्रीष्म ऋतु से बचाव के लिए वॉटर फागिंग सिस्टम लगाया जाए। पेयजल तथा मेडिकल सुविधा के समुचित इंतजाम हो। सामग्री वितरण में लगभग 300 अधिकारी-कर्मचारी तथा सामग्री वापसी के लिए करीब 01 हजार अधिकारी कर्मचारी तैनात किए जाएगें। उल्लेखनीय है कि लोकसभा निर्वाचन के लिए 18 मई को विधानसभा क्षैत्रों रतलाम शहर, रतलाम ग्रामीण तथा सैलाना हेतु रतलाम के आर्ट्स एवं साइंस कॉलेज परिसर से सामग्री वितरण की जाएगी। जबकि 19 मई को मतदान पश्चात् जिले के पांचों विधानसभा क्षैत्रों की मतदान सामग्री कॉलेज परिसर में ही मतदान दलों द्वारा जमा की जाएगी। 
     मतदान दलों से सामग्री वापसी के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र हेतु 20 काउंटर लगाए जाएंगे। इनमें 10 काउंटर ईवीएम मशीनों के लिए, 06 काउंटर परिनियत लिफाफों व 04 काउंटर अपरिनियत लिफाफों को जमा कराने के लिए होंगे। व्यवस्था इस प्रकार निर्धारित रहेगी जिससे किसी भी टेबल पर कार्य में कोई व्यवधान नहीं हो। समय सीमा में सामग्री जमा हो सकेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा लोक निर्माण विभाग से नक्शे पर सामग्री वितरण एवं जमा करने की जानकारी ली गई। ले-आउट के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

ratlam-news-लोकसभा निर्वाचन में मतदान सामग्री जमा करने वाले कर्मचारियों की संख्या विधानसभा निर्वाचन की तुलना में तिगुनी रहेगी
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। उज्जैन संभाग आयुक्त श्री अजीत कुमार ने रतलाम कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में लोकसभा निर्वाचन-2019 के अंतर्गत जिले की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने स्पष्ट किया कि लोक सभा निर्वाचन में मतदान दलों द्वारा किसी भी प्रकार से त्रुटिपूर्ण कार्य नहीं किया जाना चाहिए। उनके प्रशिक्षण में इस बात का पूरा ध्यान रखा जाए। बैठक में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान, पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी, अपर कलेक्टर श्री जितेंद्र सिंह चौहान, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण फुल पगारे तथा निर्वाचन से जुड़े नोडल अधिकारी उपस्थित थे।   
      बैठक में संभागायुक्त ने यह निर्देश दिए कि मतदान दिवस पर मतदान दलों द्वारा की जाने वाली मॉकपोल कार्रवाई ,सीआरसी, वीवीपैट संबंधी विभिन्न कार्यवाही सावधानी से की जाए। इसके लिए उन्हें पूर्ण प्रशिक्षित किया जाना आवश्यक है। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चौहान ने संभागायुक्त को बताया कि जिले में त्रुटि रहित मतदान के लिए पूरा ध्यान रखा जा रहा है। यहां तक कि स्वयं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा मास्टर ट्रेनर्स का कई बार प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। संभागायुक्त ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा मतदान केंद्रों पर निर्वाचन आयोग द्वारा जारी बुलेट प्वाइंट की जानकारी मतदान दलों के नॉलेज के लिए चस्पा की जाए। संभागायुक्त द्वारा जिले में क्रिटिकल मतदान केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी दी गई पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी ने बताया कि जिले के सभी क्रिटिकल मतदान केंद्रों पर सीएएसएफ की कंपनियां तैनात की जा रही है जिला निर्वाचन अधिकारी ने शैडो एरिया में नेटवर्क विभिन्न मतदान केंद्रों पर रनर रखने की जानकारी दी।

रतलाम संभागायुक्त ने जिले में लोकसभा निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा की
रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें
और पड़े
शेयर

रतलाम। विक्रम विश्वविद्यालय के बीकॉम फिफ्थ सेमेस्टर की परीक्षा में आयकर विषय में सभी विद्यार्थियों को फैल कर एटीकेटी देने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले को लेकर शनिवार को सैलाना जाते वक्त प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी को शहर की कन्या महाविद्यालय की छात्राओं ने बंजली बायपास पर घेर लिया। जैसे ही उनका वाहनों काफिला आया। सड़क के बीच जाकर खड़ी हो गई। छात्राएं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में पहुंचीं थी।
     इस दौरान एबीवीपी के नेता नारेबाजी करने लगे तो मंत्री कार से बाहर निकले और कार पर खड़े होकर पहले नेताओं को चुप कराया। फिर कहा एक-एक से बात करूंगा। फिर छात्राओं की समस्या सुनी। छात्राओं ने समस्या बता कर दोबारा मूल्यांकन की मांग कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ जांच की मांग की। इसके पहले छात्राएं सर्किट हाउस पर उच्च शिक्षा मंत्री का सुबह से इंतजार करती रही, लेकिन जब उन्हें पता चला कि वह शहर के बाहर बायपास होकर निकल रहे हैं तो सभी छात्राएं बंजली बायपास मेडिकल कॉलेज के पास पहुंच गई। जैसे ही पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों को ये जानकारी लगी तो वो भी मौके पर पहुंचे। जैसे ही मंत्री पटवारी का काफिला यहां पहुंचा तो छात्राएं और एबीवीपी के नेता बीच सड़क पर आकर खड़े हो गए और नारेबाजी करने लगे। छात्राओं को नारेबाजी करते देख मंत्री पटवारी कार से बाहर आए और छात्राओं की बात सुनने लगी।
       उच्च शिक्षा मंत्री ने छात्राओं को आश्वस्त किया कि वो 2 दिन में पूरे मामले की जांच कराएंगे। पहले जो भी गड़बडिय़ां विक्रम विश्वविद्यालय में हुई है उनको देखते हुए पूर्व के कुलपति को हटाकर धारा 52 लगा चुके हैं। जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। मंत्री के आने के पहले छात्राओं ने विक्रम विश्वविद्यालय के खिलाफ भी नारेबाजी की। बता दें कि शहर के शासकीय कन्या महाविद्यालय और स्वामी विवेकानंद शासकीय वाणिज्य महाविद्यालय में बीकॉम पंचम सेमेस्टर के अधिकतर विद्यार्थियों को आयकर विषय में फेल कर एटीकेटी दे दी है विद्यार्थियों का कहना है कि विश्वविद्यालय द्वारा पुनर्मूल्यांकन में गड़बड़ी की गई है।

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें

और पड़े
शेयर

रतलाम। युवाओं के लिए कॅरियर अवसर मेला स्वर्णिम अवसर है, जिसका उन्हें अधिकाधिक लाभ लेना चाहिए जिस प्रकार बीज निरंतर देखभाल और अच्छे वातावरण से बढ़कर एक वृक्ष बनता है और फलित होता है। उसी प्रकार अच्छे वातावरण एवं मार्गदर्शन से युवा अच्छा कॅरियर चुन सकते हैं। युवा कुशल होंगे, सक्षम होंगे तो देश का भविष्य भी अच्छा होगा। यह उदगार महापौर डॉ सुनीता यार्दे ने शासकीय कला एवं विज्ञान महाविद्यालय रतलाम में दो दिवसीय कॅरियर अवसर मेले के उद्घाटन समारोह में व्यक्त किए। 
        मुख्य अतिथि के रूप में महापौर ने युवाओं को प्रेरित करते हुए कहा कि प्रतिस्पर्धा की दौड़ में युवा अपने जीवन को आंकड़ो से न तौले। स्वस्थ वातावरण के अभाव में अवसाद, लक्ष्य से भटकाव, और व्यसन आदि समस्याओं में फंस जाते हैं अतएव युवाओं में कौशल संवर्धन की आवश्यकता है। कौशल होगा तो जीवन जीने की कला भी होगी। आपने युवाओं से आह्वान किया कि लक्ष्य तय कर आगे बढ़े एवं अपने क्षेत्र में अपनी क्षमता का शत-प्रतिशत दें। 
ratlam-news-युवाओं के लिए कॅरियर अवसर मेला स्वर्णिम अवसर         अध्यक्षीय उद्बोधन में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने कहा कि कॅरियर मेले में प्रदेश के अलावा गुजरात, महाराष्ट्र और दिल्ली से भी कंपनियां आई है इसके लिए मेला प्रभारी और प्राचार्य द्वारा किया गया होमवर्क प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक सेवाओं की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु संकल्प कक्षाएं चल रही है। इसमें अधिकाधिक युवा चयनित हो ऐसा प्रयास है। किंतु चयनित ना होने पर युवा मायूस न हो। वे निरंतर प्रयास करें सफलता मिलेगी। प्राचार्य डॉ संजय वाते ने अतिथियों का परिचय देते हुए बताया कि समय के साथ रोजगार के अवसरों में सकारात्मक परिवर्तन हुए हैं निरंतर नए अवसर सृजित हो रहे हैं। 
     कार्यक्रम का संचालन कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के सदस्य एवं ट्रेनिंग एण्ड प्लेसमेंट अधिकारी प्रोफेसर दिनेश बौरासी ने किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के विद्यार्थी, प्राध्यापक, जिले के अन्य महाविद्यालय से कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ प्रभारी एवं रोजगार के इच्छुक युवा उपस्थित थे। मेले में सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों के लगभग 21 स्टाल लगाए गए जिनमें प्रमुख है नवभारत फर्टिलाइजर, शिवशक्ति बायोटेक्नोलॉजीस, कॉसमास गांधी नगर, गुजरात, जेवी ह्यूमन रिसोर्सेस अहमदाबाद, एक्शन फुटवेयर, जायसवाल इंस्टीट्यूट, एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस, एलआईसी एवं एसआर जॉब प्लेसमेंट। मेले के प्रथम दिन लगभग साढ़े चार सौ युवाओं का पंजीयन किया गया। जिसमें से 121 युवाओं का प्लेसमेंट हुआ है।

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें

और पड़े
शेयर

रतलाम जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें

और पड़े
शेयर

रतलाम भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त के मालवा क्षेत्र का एक जिला है। रतलाम शहर समुद्र सतह से १५७७ फीट कि ऊंचाई पर स्थित है। रतलाम के पहले राजा महाराजा रतन सिंह थे। यह नगर सेव, सोना, सट्टा ,मावा, साडी तथा समोसा कचौरी के लिये प्रसिद्ध है। महाराजा रतनसिंह और उनके पुत्र रामसिंह के नामों के संयोग से शहर का नाम रतनराम हुआ, जो बाद में अपभ्रंशों के रूप में बदलते हुए क्रमशः रतराम और फिर रतलाम के रूप में जाना जाने लगा।
रतलाम जिला
—  Ratlam District  —
राज्य मध्य प्रदेश्,भारत
प्रशासनिक प्रभाग उज्जैन
मुख्यालय रतलाम (434)
स्थापना 1652
क्षेत्रफल 4,861 किमी (1,877 वर्ग मील)
जनसंख्या 23,65106 (2011)
जनसंख्या घनत्व 310 /किमी (800 /वर्ग मील)
साक्षरता 68.03%
लिंगानुपात 973
विकास 19.67%
लोकसभा क्षेत्र रतलाम
विधानसभा क्षेत्र रतलाम रुरल, रतलाम शहर, आलोट, सैलाना
तहसील रतलाम, जावरा, आलोट, सैलाना, बाजना, राउटी, पिपलोदा, ताल
ग्राम संख्या 1072
भाषा हिंदी
महापौर डॉ सुनीता यार्दे
सांसद गुमानसिंह डामोर
मुख्य आकर्षण **गडखंगे माता मंदिर, केदारेश्वर मंदिर, धोलावाड़ बांध, सागोद जैन मंदिर, कैक्टस गार्डन, अंदिकल्पेश्वर मंदिर, खरमौर पक्षी अभयारण्य, गंगा सागर, बिल्पकेश्वर मंदिर, कालिका माता मंदिर, पिपलोदा, झर, सैलाना पैलेस, गंगा सागर**
नदियां शिप्रा नदी
अक्षांश-देशांतर निर्देशांक23.33°N 75.03°E
 ऊँचाई (AMSL) 480 मीटर (1,570 फी॰)
समय मंडल:  आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
औसत वार्षिक वर्षण 800 मिमी
आधिकारिक जालस्थल
     रतलाम के जिले बनाये जाने का इतिहास भी कम रोचक नहीं है, जंब देश स्वतंत्र हुआ तो रतलाम भी एक रियासत था और इसके आसपास भी कई रियासते थी जैसे की रतलाम स्टेट , जाओरा, सैलाना, पिपलोदा, और कुछ देवास का भाग, कनिष्ठ और वरिष्ठ दोनों, और ग्वालियर का कुछ भाग, इस प्रकार से ७ रियासतों को मिलाकर रतलाम का निर्माण हुआ और इसे नवनिर्मित मध्यप्रदेश राज्य में जोड़ दिया गया।
      मध्य प्रदेश के एक खूबसूरत शहर रतलाम में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सब कुछ है। अपने समृद्ध और जीवंत अतीत के साथ यह वास्तव में अपनी विरासत के सार को समेटता है। रतलाम को पहले 'रत्नपुरी' कहा जाता था, जिसका अर्थ है 'कीमती रत्नों का शहर'। यह मालवा क्षेत्र के उत्तर-पश्चिमी हिस्से में स्थित है और कुल में मालवा संस्कृति के रंगों को दर्शाता है। आर्थिक गतिविधियों का एक उभरता हुआ केंद्र होने के नाते यह रोडवेज और रेलवे के माध्यम से देश के अन्य हिस्सों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। जगह के राजसी इतिहास के कारण, इसमें कई महल और स्मारक हैं। इसने भारतीय इतिहास के विभिन्न चरणों को देखा है। क्षेत्र के लोकगीत राजपुताना शौर्य की उत्साहजनक कहानी का वर्णन करते हैं।
रतलाम को इसका नाम कैसे मिला?
रतलाम जिले का इतिहास मध्यकालीन भारत के इतिहास से संबद्ध है, सबसे पहले इस भूभाग का नाम रतलाम क्यों पड़ा इस पर प्रकाश डालते है, मध्यप्रदेश में मालवा क्षेत्र का हिस्सा रतलाम, आजादी से पहले एक समय रियासत था। स्वतंत्रता के बाद, रियासत को भंग कर दिया गया था और अब यह देश में एक उभरता हुआ शहर है। इतिहासकार बताते हैं कि यह नाम शासक महाराजा रतन सिंह से लिया गया था, जिसे पहले "रत्नपुरी" कहा जाता था और इसका मतलब रत्नों का शहर था। जबकि एक अन्य राय से पता चलता है कि इस क्षेत्र पर पहले राजा व्याघ्रता के अधीन ४२० ईस्वी के दौरान वर्णिका कबीले का शासन था और वहाँ से "राम" नाम मंदसौर स्तंभ में अंकित किया गया था। शहर के नाम के बारे में सबसे स्वीकृत राय यह है कि यह नाम रत्नापुरी से आया था।
रतलाम का विकासवादी इतिहास
Ratlam Flag
रतलाम मुख्य रूप से मुगल सम्राट शाहजहाँ द्वारा रतन सिंह राठौर को उपहार में दिया गया था। शाहजहाँ के इशारे से जुड़ी एक महत्वपूर्ण घटना है। चूंकि मुग़ल सम्राट हाथी के झगड़े का शौकीन था, उसने एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया था। उन्होंने सभी प्रमुख राजपुताना कबीले को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया।इस अवसर पर उपस्थित होने के लिए रतन सिंह को राठौड़ वंश से भी आमंत्रित किया गया था। मौके के दौरान, एक हाथी जंगली हो गया और शाहजहाँ की ओर बढ़ गया। कोई भी उसकी मदद करने के लिए आगे नहीं बढ़ा, लेकिन रतन सिंह बहुत बहादुर थे और उसकी मदद की। वह हाथी पर चढ़ गया और उसे अपने कतर (चाकू) से मार दिया। उन्होंने वीरतापूर्वक शाहजहाँ की जान बचाई। शाहजहाँ बहादुरी के इस कार्य से बहुत प्रभावित हुए और धन्यवाद के रूप में उन्हें रतलाम शहर का उपहार दिया।
      महाराजा रतन सिंह 1652 से 1658 तक पहले महाराजा थे। उनकी मृत्यु के बाद, महाराजा राम सिंह 1682 तक महाराजा बने। बाद में एक के बाद एक महाराजाओं द्वारा यह शासन किया गया। राठौड़ वंश के राजाओं की एक लंबी सूची है जिन्होंने शहर पर शासन किया है और उनमें से प्रत्येक ने कई तरीकों से योगदान दिया है। राठौड़ वंश के शासन के बाद, यह मध्य भारत में मालवा एजेंसी के हिस्से के रूप में ब्रिटिश शासन के अधीन आ गया। राठौरों के इस लंबे शासन ने शहर को एक राजसी आकर्षण दिया है। रतलाम के आस-पास फैली कई सम्पदाएँ इस गौरवशाली काल से मौजूद हैं। कोई शहर की लहरों में वीरता और गर्व का असली स्वाद महसूस कर सकता है। ऐसे कई निर्माण हैं जो एक समृद्ध अतीत को छोड़ते हैं और शहर खुद को भारत के नक्शे पर एक महत्वपूर्ण हिस्से के रूप में बढ़ाता है।
ब्रिटिश शासन के दौरान रतलाम
ब्रिटिश शासन के दौरान रतलाम भी एक रियासत थी। नया शहर जो मुख्य रूप से शहरी रतलाम है, की स्थापना कैप्टन बोरथविक ने वर्ष 1829 में की थी। तब इसे चौड़ी सड़कों और अच्छी तरह से निर्मित घरों से सुसज्जित किया गया था। अपने केंद्रीय भौगोलिक स्थान के कारण, यह ब्रिटिश शासन के दौरान मध्य भारत में एक वाणिज्यिक केंद्र था। अफीम, तंबाकू और नमक का व्यापार यहाँ से बड़े पैमाने पर किया जाता था। रतलाम रेलवे स्टेशन आज तक एक महत्वपूर्ण केंद्र है। स्वतंत्रता के बाद रतलाम शहर 1949 के वर्ष में फिर से संगठित हो गया। 4861 वर्ग किमी में फैला रतलाम को छह तहसीलों में बांटा गया है, जैसे आलोट, जावरा, पिपलोदा, रतलाम, सैलाना और बाजना।
रतलाम का राजसी इतिहास
ब्रिटिश भारत के शासन में, रतलाम मालवा क्षेत्र की रियासत थी। लंबे समय तक रतलाम राठौर वंश के शासन के अधीन था। सूर्यवंश राठौरों ने रियासत पर शासन किया और वे मुख्यतः राजस्थान से थे। महाराजा रतन सिंह इस क्षेत्र के पहले शासक थे और उनकी 12 पत्नियाँ थीं। उनकी 12 पत्नियों में से एक महारानी, ​​सुखरोपोपदे कंवर शेखावत ने 16 वीं शताब्दी में सती होने का फैसला किया। राठौड़ वंश के वंशज महाराजा नटवर सिंह अभी भी जीवित हैं और राजस्थान में अपने परिवार के साथ रह रहे हैं। स्वतंत्रता के बाद रियासत को भंग कर दिया गया और देश का एक अभिन्न अंग बन गया।
रतलाम में पुरातत्व और भक्ति स्थल
रतलाम शहर में और उसके आसपास भक्ति स्थानों के ढेर सारे हैं। इन सभी स्थानों पर एक ऐतिहासिक अतीत और लोककथाएँ हैं। कालकामाता मंदिर, महालक्ष्मी टैंपल, बारबड हनुमान मंदिर और इस तरह के धार्मिक स्थल शहर में फैले हुए हैं। ये पुरातत्व स्थल समृद्ध शहर के गौरवशाली अतीत की झलक देते हैं। रतलाम शहर के अधिकांश पुराने स्मारक 10 वीं -11 वीं शताब्दी ईस्वी के हैं। मुगलों के अलावा कुछ हिंदू शासक भी इस क्षेत्र में अपनी उपस्थिति का संकेत देते हैं। परमार राजवंश की भी इस क्षेत्र में उपस्थिति थी। रतलाम शहर के पास झार क्षेत्र में एक प्राचीन शिव मंदिर की पुरानी और खंडित मूर्तियां बिखरी हुई देखी जा सकती हैं। एक अन्य प्राचीन इस्लामिक धर्मस्थल हुसैन टेकरी की स्थापना 19 वीं शताब्दी में नवाब मोहम्मद इफ्तिखार अली खान बहादुर ने की थी। यह मंदिर रतलाम के बाहरी इलाके में मौजूद था। नवाब को हुसैन टेकरी के कब्रिस्तान में दफनाया गया था। मोहर्रम के दौरान हर साल, इस्लामी त्यौहारों के मौसम में कई मुस्लिम तीर्थयात्री दुनिया भर से मंदिर में दर्शन के लिए आते हैं।
  आज, रतलाम शहर अपनी व्यावसायिक और औद्योगिक गतिविधि के साथ मध्य प्रदेश में सबसे तेजी से बढ़ते शहरों में से एक है। यह क्षेत्र आर्थिक रूप से राज्य के राजस्व में वृद्धि का समर्थन कर रहा है। ऐतिहासिक स्थान, भक्ति स्मारक, पार्क और उद्यान रतलाम को एक आदर्श पर्यटन स्थल बनाते हैं।
      मुग़ल बादशाह शाहजहां ने रतलाम जागीर को रतन सिह को एक हाथी के खेल में, उनकी बहादुरी के उपलक्ष में प्रदान की थी। उसके बाद, जब शहजादा शुजा और औरंगजेब के मध्य उत्तराधिकारी की जों जंग शरू हुई थी, उसमे रतलाम के राजा रतन सिंह ने बादशाह शाहजहां का साथ दिया था। औरंगजेब के सत्ता पर असिन होने के बाद, जब अपने सभी विरोधियो को जागीर और सत्ता से बेदखल किया, उस समय, रतलाम के राजा रतन सिंह को भी हटा दिया था और उन्हें अपना अंतिम समय मंदसौर जिले के सीतामऊ में बिताना पड़ा था और उनकी मृत्यु भी सीतामऊ में भी हुई, जहाँ पर आज भी उनकी समाधी की छतरिया बनी हुई हैं।
      औरंगजेब द्वारा बाद में, रतलाम के एक सय्यद परिवार, जों की शाहजहां द्वारा रतलाम के क़ाज़ी और सरवनी जागीर के जागीरदार नियुक्त किये गए थे, द्वारा मध्यस्ता करने के बाद, रतन सिंह के बेटे को उत्तराधिकारी बना दिया गया। इसके आलावा रतलाम जिले का ग्राम सिमलावदा अपने ग्रामीण विकास के लिये पूरे क्षेत्र में प्रसिद्ध हे। यहाँ के ग्रामीणों द्वारा जनभागीदारी से गांव में ही कई विकास कार्य किये गए हे। रतलाम से 30 किलोमीटर दूर बदनावर इंदौर रोड पर कालका माताजी का अति प्राचीन पांडवकालीन पहाड़ी पर स्थित मन्दिर हे। यहाँ पर दूर दूर से लोग अपनी मनोकामना पूरी करने और खासकर सन्तान प्राप्ति के लिए यहाँ पर मान लेते हे.
     रतलाम जिला मध्य प्रदेश के जिलों में एक जिला है, रतलाम जिला, उज्जैन मंडल के अंतर्गत आता है और इसका मुख्यालय रतलाम में है, जिले में 5 उपमंडल है, 6 ब्लॉक है, 8 तहसील है और ४ विधान सभा क्षेत्र जो की रतलाम लोकसभा के अंतर्गत आती है, 1072 ग्राम है और 418 ग्राम पंचायते भी है । रतलाम जिले का क्षेत्रफल 4861 वर्ग किलोमीटर है, और २०११ की जनगणना के अनुसार रतलाम की जनसँख्या 2365106 और जनसँख्या घनत्व 210/km2 व्यक्ति [प्रति वर्ग किलोमीटर] है, रतलाम की साक्षरता 68.03% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 973 महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 19.67 % रहा है।
      रतलाम जिला भारत के राज्यो में एकदम मध्य में स्थित मध्य प्रदेश राज्य में है, रतलाम जिला मध्य प्रदेश के पश्चिमी भाग में अद्भुद भौगोलिक स्थिति के साथ है इसके उत्तर और दक्षिण भाग छोड़ कर बाकि ३ तरफ राजस्थान राज्य की सीमाएं स्थित है रतलाम 23°33′ उत्तर 75°03′ पूर्व के बीच स्थित है, रतलाम की समुद्रतल से ऊंचाई 480 मीटर है, रतलाम भोपाल से 294 किलोमीटर पश्चिम की तरफ मध्यप्रदेश के शासकीय राजमार्ग 18 पर है और भारत की राजधानी दिल्ली से 783 किलोमीटर दक्षिण की तरफ राष्ट्रिय राजमार्ग 48 पर है ।
रतलाम जिले के पडोसी जिले
रतलाम के उत्तर में मंदसौर जिला है, उत्तर पूर्व में राजस्थान के जिले है जो झालावाड़ जिला है और मध्य प्रदेश का शाजापुर जिला है, पूर्व में उज्जैन जिला है, दक्षिण पूर्व में धार जिला है, दक्षिण में झाबुआ जिला है, पश्चिम और पश्चिमोत्तर में फिर से राजस्थान के जिले है जो की बांसवाड़ा जिला और प्रतापगढ़ जिला है ।
रतलाम जिले में तहसील ब्लॉक और उपमंडल
रतलाम जिले में प्रशासनिक विभाजन उपमंडल, ब्लॉक और तहसील में किया गया है, इनके मुख्य अधिकारी SDM BDO और तहसीलदार होते है, रतलाम जिले में 5 उपमंडल है आलोट, जावरा, रतलाम ग्रामीण, रतलाम, सैलाना, जिले में 8 तहसीलें है आलोट, जावरा, पिपलोदा, रतलाम, सैलाना, बाजना, रावटी और ताल तथा 6 ब्लॉक है आलोट, जावरा, पिपलोदा, रतलाम, सैलाना, बाजना
रतलाम जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें
रतलाम जिले में 5 विधान सभा क्षेत्र है, आलोट, जावरा, रतलाम ग्रामीण, रतलाम, सैलाना और ये रतलाम लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा हैं।
       राज्य की राजधानी मध्य प्रदेश के आधुनिक रतलाम जिले में रतलाम शहर था। रतलाम राज्य मूल रूप से एक समृद्ध राज्य था, इसके परगना (जिलों) में धार, बदनावर, दागपारावा, आलोट, तितरोड, कोटड़ी, गदगुचा, आगर, नाहरगढ़, कानार, भीलारा और रामगढ़िया शामिल थे, जो 17 वीं शताब्दी में 3,3,00,000 का राजस्व अर्जित करते थे। । मुगल उत्तराधिकार युद्ध के दौरान रतलाम के महाराजा रतन सिंह ने दारा शुकोह का समर्थन किया। हालाँकि शुकोह युद्ध हार गया और रतन सिंह भी युद्ध में मारा गया। नए बादशाह औरंगजेब ने रतलाम पर कब्जा कर लिया और राज्य को काफी हद तक कम कर दिया। राज्य ने ग्वालियर के सिंधिया और इंदौर के होल्करों के लिए भूमि खो दी। ब्रिटिश शासन के दौरान राज्य का क्षेत्रफल 1,795 किमी था और अनुमानित राजस्व 10,00,000 रुपये था।
      रतलाम के शासक मूल रूप से राजकुमारों और मारवाड़ के जागीरदार (रईस) थे। उन्हें मारवाड़ के राजा उदय सिंह द्वारा जालौर की जागीर दी। मुगल बादशाहों ने फारसियों और अफगानों के खिलाफ दिखाए गए बहादुरी के लिए उन्हें अजमेर के पास कई गाँव दिए। बाद में शाहजहाँ ने रतनसिंह को रतलाम का महाराजा बना दिया, जो खोरासान में फारसियों और कंधार में उज़बेकों के खिलाफ दिखाया गया था। रतन सिंह ने भी सम्राटों के पसंदीदा हाथी को शांत करके अपनी बहादुरी दिखाई थी। शाही हाथी ने आगरा में कई नागरिकों को रौंद दिया था और कोई भी इसके क्रोध को रोक नहीं पाया था, लेकिन रतन सिंह ने हाथी पर चढ़कर उनकी  गर्दन को तलवार से काटकर उन्हें नियंत्रित किया। 
    शाहजहाँ रतन सिंह द्वारा दिखाए गए नायकों से इतना प्रभावित था, कि उसने उसे धार, बदनावर, दागपारावा, आलोट, तितरोड, कोटि, गदगुचा, आगर, नाहरगढ़, कनार, भीलारा और रामगढ़िया के परगने उपहार स्वरुप दे दिए दिए। इस प्रकार महाराजा रतन सिंह ने 1652 में रतलाम राज्य की स्थापना की। रतन सिंह को शाहजहाँ द्वारा महाराजाधिराज, श्री हुजूर और महाराजा बहादुर की उपाधि दी गई। उन्हें आगे चलकर चौर (याक की पूंछ), मोर्चल (मोर की खाल), सूरज मुखी (सूर्य और चंद्रमा का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रशंसक) और माही-मरातीब (मछली का प्रतीक चिन्ह) के प्रतीक चिन्ह से सजाया गया।
रतन सिंह शाहजहाँ के गद्दार पुत्र औरंगजेब से युद्ध में मारे गए, , धर्मपुर में औरंगजेब, द्वारा  उनकी पत्नी महारानी सुखरूपदे कंवर शेखावत जी साहिबा ने १६५8 में सती कर लिया। रतन सिंह के पुत्रों ने मालवा क्षेत्र में विभिन्न क्षेत्रों में शासन किया। रतलाम, सैलाना और सीतामऊ के राजा सभी रतन सिंह के वंशज थे। ब्रिटिश शासन के दौरान, राज्य में 1795 किमी का क्षेत्र था, जो सैलाना की रियासत के क्षेत्र के साथ घनिष्ठ रूप से जुड़ा हुआ था। 1901 में, राज्य की जनसंख्या 83,773 थी; रतलाम शहर की आबादी 36,321 थी। राज्य को अनुमानित रूप से राजस्व का लाभ मिला 10,00,000। यह शहर राजपुताना-मालवा रेलवे पर एक जंक्शन था, और विशेष रूप से अफीम का एक महत्वपूर्ण व्यापार केंद्र था।
       रतलाम को शुरू में ग्वालियर साम्राज्य में रखा गया , लेकिन 5 जनवरी 1819 को यह ब्रिटिश साम्राज्य में विलय कर दिया गया , जिसके बाद सिंधिया ने किसी भी सेना को देश में भेजने या आंतरिक प्रशासन के साथ हस्तक्षेप नहीं करने का आदेश दिया । राज्य के अंतिम शासक ने 15 जून 1948 को भारतीय संघ में प्रवेश के पर हस्ताक्षर किए।
(Ratlam Royal Family) - महाराजा रतलाम उदय सिंह ने अपने चौथे बेटे (या सत्रहवें) को कुंवर दलपत सिंह, राजस्थान के अजमेर जिले के पिसांगन का परगना प्रदान किया। उनके महान पौत्र, राजा रतन सिंह ने 1652 में रतलाम की स्थापना की थी।
Date /Year महाराजा रतलाम
1652/1658महाराजा रतन सिंह
प्रथम महाराजा 
1658/1682महाराजा राम सिंह
दूसरे महाराजा
1682/1684महाराजा शिव सिंह
तीसरे महाराजा
1684महाराजा केशव दा
4 वें महाराजा
1684/1709महाराजा चेतसाल5 वें महाराजा
1709/1716केएसएच आरआई सिंह6 वें महाराजा
1717/1743महाराजा मान सिंह
7 वें महाराजा
1743/1773महाराजा  प्रथ्वी सिंह8 वें महाराजा
1773/1800महाराजा पदम सिंह 9 वें महाराजा
1800/1824महाराजा प्रभात सिंह10 वें महाराजा
1824/1857महाराजा बलवंत सिंह11 वें महाराजा
1857/1864महाराजा भैरोन सिंहजी12 वें महाराजा
1864/1893महाराजा रणजीत सिंहजी
13 वें महाराजा
1893/1947महाराजा सज्जन सिंह बहादुर
14 वें महाराजा
1947/1991महाराजा लोकेन्द्र सिंह बहादुर जी
15 वें महाराजा
1991/2011महाराजा रणबीर सिंह  बहादुर जी
16 वें महाराजा
Date of Reignस्वतंत्र-भारत प्रथम महाराजा
1 Jan 1893 – 3 Feb 1947महाराजा सज्जन सिंह बहादुर
3 Feb 1947 – 15 Aug 1947महाराजा लोकेन्द्र सिंह बहादुर जी (b. 1927 – d. 1991)
और पड़े
शेयर

प्रायोजित लिंक्स

# ट्रेंडिंग

[random][carousel1 autoplay]

Asha News

{picture#YOUR_PROFILE_PICTURE_URL} YOUR_PROFILE_DESCRIPTION

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.